पंचगव्य विद्यापीठम

अब नामांकन से सम्बंधित जानकारी (Admission Information) भारतीय भाषाओं में.
Select the Language of Admission Form:

पंचगव्य विद्यापीठम, पंचगव्य गुरुकुलम समूह के अंतर्गत संचालित स्वतंत्र इकाई है. जिसके अन्तर्गत भारत के सभी जिलों में पंचगव्य चिकित्सा शिक्षा शुरु करने की योजना पर स्वावलंबी रूप से कार्य चल रहा है. अभी तक भारत के कई प्रदेशों में विद्यापीठम का विस्तार शुरु हो चूका है. जिसमें तमिलनाडु (தமிழ்நாடு), कर्नाटक (ಕರ್ನಾಟಕ), आंध्र प्रदेश (ఆంధ్ర ప్రదేశ్), तेलंगाना (తెలంగాణా), केरल (കേരള), महाराष्ट्र, गुजरात (ગુજરાત), राजस्थान, गोवा, दिल्ली, उत्तर प्रदेश, मध्यप्रदेश, हरियाणा, ओड़िसा (ଓଡିସ), बंगाल (বাঙাল) व झारखण्ड है. जहाँ वहां की स्थानीय भाषाओं में पंचगव्य की चिकित्सा शिक्षा प्रदान की जाती है.

भारतीय पौराणिक ज्ञान को समर्पित गुरुकुलीय विश्वविद्यालय, संस्थापक - पंचगव्य सम्पूर्ण थेरपी
गऊमाता एवं गौपालकों को स्वावलम्बी बनाने हेतु संचालित पाठ्यक्रम

१) इंटीग्रेटेड डिप्लोमा इन पंचगव्य थेरेपी (आईडीपीटी - IDPT)
1 वर्ष का कोर्स व 2 वर्ष का अभ्यासक्रम, योग्यता - +2 (10 + 2)

भारत के २३ (23) राज्य एवं ११ (11) भाषाओं में
हेल्पलाइन (Helpline) 24 x 7 : 044 - 27 28 22 23 / Chat Live (24 x 7)

२) एडवांस डिप्लोमा इन पंचगव्य थेरेपी (एडीपीटी - ADPT)
2 वर्ष का कोर्स व 1 वर्ष का अभ्यासक्रम, योग्यता

भारत के २३ (23) राज्य एवं ११ (11) भाषाओं में
हेल्पलाइन (Helpline) 24 x 7 : 044 - 27 28 22 23 / Chat Live (24 x 7)

३) गर्भधारण, प्रसव व बालपालन
1 वर्ष का कोर्स व 1 वर्ष का अभ्यासक्रम, योग्यता - एम.डी (पंचगव्य)

भारत के २३ (23) राज्य एवं ११ (11) भाषाओं में
हेल्पलाइन (Helpline) 24 x 7 : 044 - 27 28 22 23 / Chat Live (24 x 7)